Skip to content

100+ Best Desh Bhakti Shayari | देश भक्ति शायरी

Best Desh Bhakti Shayari
17438 Views

जोश भर देने वाली देशभक्ति शायरी 2 Line, दर्द भरी देशभक्ति शायरी, नई देश भक्ति शायरी, देश भक्ति स्टेटस, देश भक्ति शायरी इमेज, कश्मीर पर देश भक्ति शायरी,

Desh Bhakti Shayari

देशभक्ति को वैसे तो शब्दों में बयां नहीं किया जा सकता लेकिन कुछ देशभक्ति शायरी ऐसी होती है की वो इंसान का देश प्रेम जगा देती है और लोगो में उत्साह भर देती है। आज आप सभी देशभक्तों के लिए हिंदी हैं हम लाया है best desh bhakti shayari in hindi और best deshbhakti shayari का एक शानदार और जबरदस्त सबसे बेस्ट देशभक्ति शायरी का कलेक्शन जो आप सभी को खूब पसंद आएगा।

जब आँख खुले तो धरती हिन्दुस्तान की हो
जब आँख बंद हो तो यादेँ हिन्दुस्तान की हो
हम मर भी जाए तो कोई गम नही लेकिन
मरते वक्त मिट्टी हिन्दुस्तान की हो।

____________________________

“अगर मैं जन्म लू दुबारा इंसान में
भगवन देना मिट्टी हिन्दुस्तान की
होंठो पे गंगा हो हाथो में तिरंगा हो”

____________________________

अब तक जिसका खून न खौला,

वो खून नहीं वो पानी है

जो देश के काम ना आये ,

वो बेकार जवानी है

____________________________

कभी सनम को छोड़ के देख लेना,

कभी शहीदों को याद करके देख लेना,

कोई महबूब नहीं है वतन जैसा यारो,

मेरी तरह देश से कभी इश्क करके देख लेना..

____________________________

दे सलामी इस तिरंगे को जिससे तेरी शान है.

सिर हमेशा ऊँचा रखना इसका जब तक दिल में जान हैं .

____________________________

कुछ नशा तिरंगे की आन का है,

कुछ नशा मातृभूमि की शान का है,

हम लहरायेंगे हर जगह ये तिरंगा,

नशा ये हिन्दुस्तां के सम्मान का है.

____________________________

मेरी धडकनो में धडकता रहे तु,

मेरे देश तुझको नमन है मेरा,

जीऊं तो जुबां पर तेरा नाम हो

मरूं तो तिरंगा कफन हो मेरा।.

____________________________

मैं भारत बरस का हरदम अमित सम्मान करता हूँ

यहाँ की चांदनी मिट्टी का ही गुणगान करता हूँ,

मुझे चिंता नहीं है स्वर्ग जाकर मोक्ष पाने की,

तिरंगा हो कफ़न मेरा, बस यही अरमान रखता हूँ।.

____________________________

जोश भर देने वाली देशभक्ति शायरी

आज़ादी की कभी शाम ना होने देंगे,

शहीदों की कुर्बानी बदनामी ना होने देंगे,

बची हो जो एक बूंद भी लहू की तब तक

भारत माँ का आँचल नीलाम ना होने देंगे !.

____________________________

चले आओ मेरे परिंदों लौट कर अपने आसमान में,

देश की मिटटी से खेलो, दूर-दराज़ में क्या रक्खा है

____________________________

शहीदों की चिताओं पर लगेंगे हर बरस मेले,
वतन पे मर मिटनेवालों का बाकी यही निशां होगा

____________________________

अनेकता में एकता ही इस देश की शान है,
इसीलिए मेरा भारत महान है

____________________________

जो देश के लिए शहीद हुए
उनको मेरा सलाम है
अपने खूं से जिस जमीं को सींचा
उन बहादुरों को सलाम है

____________________________

खून से खेलेंगे होली,
अगर वतन मुश्किल में है
सरफ़रोशी की तमन्ना
अब हमारे दिल में है

____________________________

खुशनसीब हैं वो जो वतन पर मिट जाते हैं,
मरकर भी वो लोग अमर हो जाते हैं,
करता हूँ उन्हें सलाम ए वतन पे मिटने वालों,
तुम्हारी हर साँस में तिरंगे का नसीब बसता है…

____________________________

लिख रहा हूं मैं अजांम जिसका कल आगाज आयेगा,
मेरे लहू का हर एक कतरा इकंलाब लाऐगा
मैं रहूँ या ना रहूँ पर ये वादा है तुमसे मेरा कि,
मेरे बाद वतन पर मरने वालों का सैलाब आयेगा

____________________________

मुझे ना तन चाहिए, ना धन चाहिए
बस अमन से भरा यह वतन चाहिए
जब तक जिन्दा रहूं, इस मातृ-भूमि के लिए
और जब मरुँ तो तिरंगा कफ़न चाहिये

____________________________

अपनी आज़ादी को हम हरगिज़ मिटा सकते नहीं
सर कटा सकते हैं लेकिन सर झुका सकते नहीं

____________________________

इतनी सी बात हवाओं को बताये रखना
रौशनी होगी चिरागों को जलाये रखना
लहू देकर की है जिसकी हिफाजत हमने
ऐसे तिरंगे को हमेशा दिल में बसाये रखना

____________________________

देशभक्तों से ही देश की शान है
देशभक्तों से ही देश का मान है
हम उस देश के फूल हैं यारों
जिस देश का नाम हिंदुस्तान है

____________________________

लहराएगा तिरंगा अब सारे आसमान पर
भारत का ही नाम होगा सबकी जुबान पर
ले लेंगे उसकी जान या खेलेंगे अपनी जान पर
कोई जो उठाएगा आँख हिंदुस्तान पर

____________________________

गुलाम बने इस देश को आजाद तुमने कराया है
सुरक्षित जीवन देकर तुमने कर्ज अपना चुकाया है
दिल से तुमको नमन हैं करते
ये आजाद वतन जो दिलाया है

____________________________

शहीद देश भक्ति शायरी

कर जज्बे को बुलंद जवान, तेरे पीछे खड़ी आवाम !
हर दुश्मन को मार गिराएंगे, जो हमसे देश बँटवाएंगे !!

____________________________

आन देश की, शान देश की, इस देश की हम संतान हैं !
तीन रंगों से रंगा तिरंगा, अपनी ये पहचान है !!

____________________________

सीने में जूनून और आँखों में देशभक्ति की चमक रखता हूँ !
दुश्मन की सांसे थम जायें, आवाज में इतनी धमक रखता हूँ !!

____________________________

इस वतन के रखवाले हैं हम
शेर ए जिगर वाले हैं हम
मौत से हम नहीं डरते
मौत को बाँहों में पाले हैं हम

____________________________

देश के लिए मर मिटना कुबूल है हमें
अखंड भारत के सपने का जूनून है हमें

____________________________

खींच दो अपने ख़ूँ से जमीं पर लकीर
इस तरफ आने पाये ना रावण कोई
तोड़ दो अगर कोई हाथ उठने लगे
छू ना पाये सीता का दामन कोई
राम भी तुम तुम्हीं लक्ष्मण साथियो
अब तुम्हारे हवाले वतन साथियो

____________________________

तिरंगा है आन मेरी
तिरंगा ही है शान मेरी
तिरंगा रहे सदा ऊँचा हमारा
तिरंगे से है धरती महान मेरी

____________________________

सुन्दर है जग में सबसे, नाम भी सबसे न्यारा है
वो देश हमारा है, वो देश हमारा है

जहाँ जाति भाषा से बढ़कर देशप्रेम की धारा है
वो देश हमारा है, वो देश हमारा है

____________________________

Desh bhakti Song with Hindi Gujarati lyrics
Desh bhakti Song with Hindi Gujarati lyrics

अधिकार मिलते नहीं लिए जाते हैं
आजाद हैं मगर गुलामी किये जाते हैं
वंदन करो उन सेनानियों को
जो मौत के आँचल में जिए जाते हैं

Desh Bhakti Shayari Attitude

____________________________

उड़ जाती है नींद ये सोचकर
कि सरहद पे दी गयीं वो कुर्बानियां
मेरी नींद के लिए थीं

____________________________

उनके हौंसले का मुकाबला ही नहीं है कोई
जिनकी कुर्बानी का कर्ज हम पर उधार है
आज हम इसीलिए खुशहाल हैं क्यूंकि
सीमा पे जवान बलिदान को तैयार है….

____________________________

इश्क तो करता है हर कोई
महबूब पे तो मरता है हर कोई
कभी वतन को महबूब बना के देखो
तुझ पे मरेगा हर कोई

____________________________

चढ गये जो हंसकर सूली,

खाई जिन्होने सीने पर गोली,

हम उनको प्रणाम करते हैं.

जो मिट गये देश पर,

हम उनको सलाम करते हैं.

____________________________

कुछ नशा तिरंगे की आन का है,
कुछ नशा मातृभूमि की मान का है,
हम लहरायेंगे हर जगह ये तिरंगा,
नशा ये हिन्दुस्तान की शान का है…

____________________________

Best Dard Bhari Shayari | दर्द भरी शायरी (NEW)
Best Dard Bhari Shayari | दर्द भरी शायरी (NEW)

तीन रंग का नही वस्त्र,
ये ध्वज देश की शान है,
हर भारतीय के दिलो का स्वाभिमान है,
यही है गंगा, यही है हिमालय,
यही हिन्द की जान है,
और तीन रंगों में रंगा हुआ ये अपना हिन्दुस्तान है

____________________________

मैं अपने देश का हरदम सम्मान करता हूँ,
यहाँ की मिट्टी का ही गुणगान करता हूँ,
मुझे डर नहीं है अपनी मौत से,
तिरंगा बने कफ़न मेरा,
यही अरमान रखता हूँ।

____________________________

एक सैनिक ने क्या खूब कहा है,
किसी गजरे की खुशबु को महकता छोड़ आया हूँ,
मेरी नन्ही सी चिड़िया को चहकता छोड़ आया हूँ,
मुझे छाती से अपनी तू लगा लेना ऐ भारत माँ,
मैं अपनी माँ की बाहों को तरसता छोड़ आया हूँ।

____________________________

नफरत की भावना को भी बड़े प्यार से सहते है,
ये देश नहीं मेरी जान है,
जिसे हिन्दुस्तान कहते है।

____________________________

देशभक्ति की महक अब मेरे कपड़ों से भी आने लगी हैं,
अब तो मेरी धड़कन भी जय हिंद गाने लगी है। 

____________________________

मैं मर जाऊँ तो सिर्फ मेरी इतनी पहचान लिख देना,
मेरे खून से मेरे माथे पर जन्म स्थान लिख देना,
कोई पूछे तुमसे स्वर्ग के बारे में तो,
एक कागज के टुकड़े में हिन्दुस्तान लिख देना।

____________________________

सुंदर है जग में सबसे,
नाम भी न्यारा है जहां जाती-भाषा से बढ़कर,
देश-प्रेम की धारा है निशचल,
पावन, प्रेम पुराना,
वो भारत देश हमारा है।

____________________________

करता हूँ भारत माता से गुजारिश, हमेशा यही कि,
तेरी भक्ति के सिवा कोई बंदगी कभी न मिले,
हर जन्म मिले हिन्दुस्तान की पावन धरती पर,
या फिर कभी मुझे ज़िन्दगी ही न मिले।

____________________________

चाहत है मेरी हसीन जिंदगी के ऐसी इक शाम आये,
देश की सरहद से मौत का मेरी पैगाम आगे,
वैसे तो अनेको लोग मरतें है मोहब्बत के नाम,
पर खावहिश यही है मेरा खून देश के काम आये।

Best Maa Shayari | माँ के लिए सबसे लोकप्रिय शायरी

50+ Best Maa Shayari | माँ के लिए सबसे लोकप्रिय शायरी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *