Skip to content

50+ Best Dard Bhari Shayari | दर्द भरी शायरी (NEW)

Best Dard Bhari Shayari | दर्द भरी शायरी (NEW)
449 Views

Dard Bhari Shayari, Gum Bhari Shayari In Hindi Painful Shayari, Best Dard Shayari, Dard Sad Shayari, Dard Shayari in Hindi, Hindi Dard Bhari Shayari, 2023 dard shayari, दर्द भरी शायरी, Dard Shayari Hindi, Gam Bhari Shayari Photos, छोड़कर जाने वाली दर्द भरी शायरी, किसी की याद में दर्द भरी शायरी, रिश्तों की दर्द भरी शायरी, जिंदगी की दर्द भरी शायरी 2 Line, प्यार में दर्द भरी शायरी हिंदी में, जिंदगी की दर्द भरी शायरी, ऐटिटूड सैड शायरी.

Dard Bhari Shayari

किसी को दिल से चाहा ये गुनाह था
मोहब्बत तबाह करती है ये सुना था
छोड़ कर जाना आज कल रिवाज़ है
या मैंने ही शख़्स ग़लत चुना था

Bewafa Shayari

मौत आएगी जान जाएगी
मगर तेरा आना नहीं होगा
ये मोहब्बत तुम्हारा काम नहीं
तुमसे ये इश्क़ निभाना नहीं होगा

Dard bhari Shayari

तुझे मेरे प्यार पर शक क्यों है
सिर्फ तुझे दिल तोड़ने का हक़ क्यों है
तूने मुझे अपना कहा समझा नहीं मगर
तेरे मेरे प्यार में फ़र्क़ क्यों है

sad shayari

तेरा होकर भी मैं तनहा ही रहा
मुझे तन्हाइयों की आदत हो गयी
सोच तेरे नाम पर मिट जाने वाले को
क्यों तेरे ही नाम से नफरत हो गयी

Dard Shayri

हिंदी कहानियाँ

Desh Bhakti song

अगर तुम्हारे पास है वक़्त ही नहीं
क्या करूँ मैं अपने हालात बताकर
ये मेरी मोहब्बत एक तरफ़ा ही है
क्या करूँ मैं अपने जज़्बात बताकर
कैसे मानूं उसे इश्क़ है मुझसे
खुश देखा है मैंने उसे मुझसे जुदा होकर
बहुत मुश्किल होता है खुदको समेटना
देखना तुम भी कभी खुद में तबाह होकर
क्यों मिलाया उससे जिसका हो नहीं सकता
जिसका हूँ उसका मुझे होना नहीं था
ऐ खुदा तूने ये कैसा मेल मिलाया
जो है मेरा, मेरा होना नहीं था
मत सताओ मुझे तुम ज़माने की तरह
मुझे बस तुम्हारा सहारा चाहिए
ये दिल मेरा एक डूबती कश्ती है
इस कश्ती को तुम्हारा किनारा चाहिए
क्यों तुम्हें अब मुझसे मोहब्बत नहीं है
क्या तुम्हें अब मेरी ज़रुरत नहीं है
धोखे ही थे शायद वादे तेरे
मुझे भी अब तेरी चाहत नहीं है
कश्ती का डूब जाना ही अच्छा था
किनारे ने और बदनाम कर दिया
पुरानी गलतियां भूलने की कोशिश थी
नए इश्क़ ने और बर्बाद कर दिया
खाली मैं अंदर से टूटा हुआ
क़िस्मत से और खुद से रूठ हुआ
रूहानी ज़ख्म हैं दिखते नहीं
मैं यादों से ज़ख्मों को सीता हुआ
कुछ अपनों के सताए हुए भी लोग हैं
आंसू कर किसी के झूठे नहीं होते
मतलब निकलने पर सब बदल ही जाते हैं
अपने भी आज कल अपने नहीं होते
Best Desh Bhakti Shayari
Best Desh Bhakti Shayari

तुझे नहीं तो हाल-ए-दिल किसे सुनाए
हो इजाज़त तो तेरे करीब आए
बहुत बड़ी है दुनिया बता कहाँ जाए
तू कहे तो तेरे नाम पे मर जाए

sad shayari in Hindi
कभी अपनी ज़रुरत कभी शौक बना लेते
कुछ ज़ख्म मेरी रूह को बेवजह देते
इतनी जल्दी क्यों मुझे आज़ाद कर दिया
इश्क़ की मुझे थोड़ी और सज़ा देते
संभल कर रहना तू ऐ दिल
यहाँ ज़हर बहुत है
कोई अपना नहीं दिखता
यहाँ गैर बहुत है
रुकना ना अब कहीं झुकना ना अब कहीं
ऐ दिल ये ज़माना पहले सा है नहीं
मतलब की बातें हैं मतलब से मतलब है
जैसा ये दिखता है वैसा ये है नहीं
रब भला करे उनका जो तेरा हाल बताते हैं
खुश है तू भी अब मुझे खाब आते हैं
और मैं क्या करूँ मेरी औकात ही क्या है
चूम लूँ वो पैर जो तेरे घर को जाते हैं
एक गलती बार बार नहीं करना
जा मुझे फिर प्यार नहीं करना
खुद को संभाला बहुत मुश्किल से मैंने
फिर किसी पर ऐतबार नहीं करना

खुशियों से नाराज़ है मेरी ज़िन्दगी
पल दो पल की मेहमान है मेरी ज़िन्दगी
मेरे ज़ख्मों का इलाज कुछ नहीं
बस मुझसे ही परेशान है मेरी ज़िन्दगी

Desh bhakti Song with Hindi Gujarati lyrics
Desh bhakti Song with Hindi Gujarati lyrics
ये बुरा वक़्त जाने कब तक सताएगा
और जाने कितने बुरे दिन बताएगा
ज़िन्दगी से अब मन भर सा गया है
कौन जाने मौत वाला दिन कब आएगा

कोई अभी जान से प्यारा नहीं लगता
मेरी कश्ती को कोई किनारा नहीं लगता
मतलब की बातें हैं मतलब के रिश्ते
सब गैर है कोई सहारा नहीं लगता

पहले जैसी अब वो बात कहाँ है
सच्ची मोहब्बत की बरसात कहाँ है
जिस्मों की भीड़ में सब खोए हुए हैं
रूहों की अब वो मुलाकात कहाँ है

कुछ पूरे हुए खाब कुछ अधूरे हुए हैं
हम उनसे बिछड़कर भी जुड़े हुए हैं
मोहब्बत की हमें भी सज़ा मिली है
हम वफ़ा करके भी बुरे हुए हैं

नहीं चाहिए मेरे चेहरे पर हसी
जब तक तू गैर की बाहों में है
आएगी तुझपर भी धुप वक़्त की
अभी तू मीठी छाओं में है

बड़े दिल से बद्दुआ है मेरी
तुझे भी मोहब्बत कभी नसीब ना हो
तेरे भी चेहरे का नूर जाएगा
तेरी भी आँखों में पानी आएगा

तुझे भी खुद से नफरत होने लगेगी
अंधेरों की तुझे भी आदत होने लगेगी
तब तुझे पता लगेगा
आखिर इश्क़ है क्या, इश्क़ है क्या

हसता हुआ चेहरा सिर्फ दिखावा है
आँखों की बेबसी देखी है
साँसों का सिलसिला थकने लगा हैं
दिल वी वीरानगी किसने देखी है

वो वफ़ादार नहीं हर एक पर मरते हैं
पर बातें वफाओं की दिन रात करते हैं
तूने दिल तो दिया हर एक के सीने में खुदा
पर इस जहान में बाजार सिर्फ जिस्मों के चलते हैं

यहाँ महंगे है दिल के खिलौने भी मुरशद
दिलों का जोड़ा मुझे कहीं आबाद नहीं मिलता
नहीं मिलता वो जिसकी तलाश है मुझे
सच्ची मोहब्बत का तोहफा सब को नहीं मिलता

आयी है यादें उसकी मिलने मुझसे आज
फिर से उनको पन्हा दी ये गलती मेरी थी
घर में मेरे बरकत थी जा जबतक साथ खुदा
पर उसको खुदा बनाया फिर ये गलती मेरी थी

हाथों को तेरे हाथों की आदत हो गयी है
साँसों को तेरी गर्मी से राहत हो गयी है
तुझसे दूरी का हर पल एक साल सा लगता है
तू जल्दी मुझसे आ मिले मुनाजत हो गयी है

मोहब्बत सीखा कर जुदा हो गए
ना सोचा ना समझा बस खफा हो गए,
इस दुनियां में किसको हम अपना कहें
अगर तुम ही सनम बेवफा हो गए..!!

तेरी बेवफाई का किस्सा जब जब याद आएगा
मेरे तन बदन में एक आग सी भड़काएगा,
जो तूने किया कोई दुश्मन भी नहीं करता
देख लेना एक दिन तू भी बोहत पछताएगा..!!

रिश्ते टूट कर चूर चूर हो गए
धीरे धीरे वो हमेसा दूर हो गए,
हमारी ख़ामोशी हमारे लिए गुनाह बन गयी
वो गुनाह कर के भी बेकसूर हो गए..!!

तुमने खुद को मनाया क्यों नहीं
मुझ पर तुम्हें तरस आया क्यों नहीं,
जैसा मैंने तुम्हें चाहा था कभी
तुम्हें मुझ पर वैसा प्यार आया क्यों नहीं..!!

होगी तकरार कोई बहाना कीजिए
जुदा भी हो जाएंगे आप ही इरादा कीजिए,
तोड़ना ही है तो दिल तोड़िए हुजूर
बंदा हाजिर है दिल लेकर बस इशारा कीजिए..!!

फूलों में खुशबू उसके होने से है
मुझे डर बस एक उसे खोने से है
मेरी खुशी की वजह भी है वो
मुझे गम उसके रोने से है..!!

दिल पर न मेरे यूँ वार कीजिये,
छोड़ो ये नफरत थोड़ा प्यार कीजिये,
तड़पते हैं जिस कदर तेरे प्यार में हम,
कभी खुद को भी उस कदर बेकरार कीजिये..!!

मुझ से नफरत की अजब राह निकाली उसने
मुस्कुराता दिल मेरा कर दिया खाली उसने,
मेरे घर की रिवायत से वो खूब था वाकिफ
जुदाई मांग ली बन के सवाली उसने..!!

चाहा था कुछ कुछ और हो गया,
दुनिया की भीड़ में ये दिल खो गया,
वक्त की मार या साजिश खुदा की
जिसे मेरा होना था वो किसी और का हो गया..!!

अकेलेपन में ज़िन्दगी
पल दो पल का मेहमान बन गया,
जीने में हम जीवन लगाते रहे हैं
और दो पल में शमसान बन गया..!!

जाते जाते मुड़ के ना देखना
शायद फिर प्यार हो जाएगा
तेरे झूठे प्यार का
ये दिल फिर शिकार हो जाएगा

मेरी बात में अब दम है
मुसीबत अब कुछ कम है
उस बेवफा को जाते देख कर
जाने क्यों मेरी आँखें नम है

अब कैसी मोहब्बत कैसा प्यार
अब तो हम तनहा है यार
लोग बचाते रहे अपनी आबरू
हम तो खुद नीलाम होने चले बाज़ार

अच्छा हुआ नाम तेरा लिया नहीं मैंने
वरना कैसे दुहाई देती तू
किस किस्से मुँह छुपाती
किस किसको सफाई देती तू

तुम मुझे, मेरा इश्क़ भुला पाओगे क्या?
रूहों के गाँव में मुझसे मिलने आओगे क्या?
मैं तुम्हारी याद में मरना चाहता हूँ,
तुम मेरी क़बर पे फूल सजाओगे क्या?

हर एक दिन बद से बदत्तर होता गया
तब वक़्त हस्ता और मैं रोता गया
मैं ख़ुशी की तलाश में जिसके क़रीब जाता
वो मुझसे उतना ही दूर होता गया

अभी तो बस तुझे छोड़ दिया है
तुझे तेरी गलती का एहसास कराएंगे
तू आना कभी दिल लेकर हमारी गली में
तुझे दर्द खिलाएंगे और आँसू पिलाएंगे

जो हुआ वो होना नहीं था
मुझे भी शायद तब रोना नहीं था
रूठना मनाना तो ठीक था लेकिन
तू छोड़ जाएगा ये सोचा नहीं था

मोहब्बत का तोहफा अदा कर दिया
अपना बना कर जुदा कर दिया
टूटा नहीं मैं दुनियां के तानों से
तेरी बेवफाई ने मुझे तबाह कर दिया

कितनी मोहब्बत तुमसे है कैसे बताएं तुम्हें
शायद तुम हमसे कभी प्यार नहीं करोगे
सांसो पर नाम तुम्हारा लिख कर मर जाएंगे
तुम फिर भी हमारी मोहब्बत पर ऐतबार नहीं करोगे

दर्द भरी शायरी

Dard Bhari Shayari, Gum Bhari Shayari In Hindi Painful Shayari, Best Dard Shayari, Dard Sad Shayari, Dard Shayari in Hindi, Hindi Dard Bhari Shayari, दर्द भरी शायरी, Dard Shayari Hindi, Gam Bhari Shayari Photos, छोड़कर जाने वाली दर्द भरी शायरी, किसी की याद में दर्द भरी शायरी, रिश्तों की दर्द भरी शायरी, जिंदगी की दर्द भरी शायरी 2 Line, प्यार में दर्द भरी शायरी हिंदी में, जिंदगी की दर्द भरी शायरी, ऐटिटूड सैड शायरी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *